कुंडली में योगों की व्याख्या: आपके लिए क्या जानना आवश्यक है - Yog in Kundli

कुंडली में योगों की व्याख्या: आपके लिए क्या जानना आवश्यक है - Yog in Kundli

हिंदू धर्म दर्शन अनुसार, नौ खगोलीय वृत्त हैं, और सौर मंडल की यह संरचना व्यक्ति की विशिष्ट विशेषताओं को प्रभावित करती है। इन खगोलीय तारों को ग्रह भी कहा जाता है। वे हैं :

*शनि
*बृहस्पति (गुरु)
*मंगल
*शुक्र
*बुध
*सूर्य (रवि)
*चंद्र
*राहु और
*केतु

ये ग्रह उनके नियुक्त समय तक विशिष्ट भावों में रहते हैं और उन भावों के स्वामी की तरह फल देते हैं। इन स्थितियों को जिन्हे ग्रह स्तिथि भी कहते है, इनमें जातक को सकारात्मक और नकारात्मक परिणाम प्रदान करने, और जीवन प्रभावित करने की क्षमता होती है। जब ग्रह स्तिथि ऐसी हो जिससे राहु, केतु या मंगल प्रभावित नहीं होते, तब इसे योग कहा जाता है, और जब ग्रहों की स्तिथि में राहु पंचम भाव में होता है या जब अन्य ग्रह राहु और केतु के बीच आ जाते हैं, तब इस स्तिथि को अशुद्धि या दोष कहा जाता है।

योग शुभ माने जाते हैं क्योंकि वे किसी व्यक्ति की ज्ञान प्राप्ति की आकांशा, उसकी धार्मिक और सदय होने की क्षमता, धन प्राप्त की क्षमता, पर्याप्त पारस्परिक संबंधों को बनाए रखने की क्षमता और अन्य विषयों में सकारात्मक फलों द्वारा जातक को प्रभावित करते हैं। वही दूसरी ओर, दोषों को अशुभ माना जाता है क्योंकि वे व्यक्ति की कड़ी मेहनत करने, सफल होने, स्थिर वैवाहिक जीवन बनाए रखने, गर्भ धारणा और प्रसन्नता के मार्ग में आगे बढ़ने की क्षमता में बाधा डालने के लिए जाने जाते हैं।

Video Reviews

left-arrow
Clickastro Hindi Review on Indepth Horoscope Report - Sushma
Clickastro Hindi Review on Full Horoscope Report - Shagufta
Clickastro Review on Detailed Horoscope Report - Shivani
Clickastro Full Horoscope Review in Hindi by Swati
Clickastro In Depth Horoscope Report Customer Review by Rajat
Clickastro Telugu Horoscope Report Review by Sindhu
Clickastro Horoscope Report Review by Aparna
right-arrow
Fill the form below to get In-depth Horoscope
Basic Details
Payment Options
1
2
Enter date of birth
Time of birth
By choosing to continue, you agree to our Terms & Conditions and Privacy Policy.
User reviews
Average rating: 4.8 ★
2250 reviews
hariharan
★★★★★
08-04-2024
super
tarkeshwarnath
★★★★★
08-04-2024
Ok
debasish nayak
★★★★
07-04-2024
I have needed this software.i want to buy it software.anyone please tell me.odia language astrology software required.how it buy
rahul
★★★★★
06-04-2024
Acharya Anand is accurate and exceptional
kritika
★★★★★
03-04-2024
All good
tejal pandharinath bhopi
★★★★
02-04-2024
Very good
mukesh dabar
★★★★★
28-03-2024
PLEASE BLESS US ALWAYS THANKS FROM BOTTOM OF MY HEART PLEASE GUIDE THE NEEDY ...
kannan
★★★★★
28-03-2024
Good report need later many services
nigil
★★★★★
28-03-2024
Accurate prediction and good service
gokul
★★★★★
27-03-2024
good service i will suggest to my friend
kalavani
★★★★
27-03-2024
????? ?????
kalavani
★★★★★
27-03-2024
?????? ???????? ??????? ????????
malik baba
★★★★★
24-03-2024
Swami plz tell my jatakam plz
krish raj
★★★★★
23-03-2024
Need Affordable Pack
sandhya
★★★★★
22-03-2024
Good service
liya
★★★★★
22-03-2024
Accurate report
amarendra singh
★★★★★
19-03-2024
Nice report
shilpa
★★★★★
19-03-2024
Nice plz tell me. When will get job this month or not all are calling but not replying my life will be like this will never get ajob
kiran asher
★★★★★
17-03-2024
Very nice and prompt reply.
praveen mittal
★★★★★
14-03-2024
Sundar
vinod kr
★★★★
11-03-2024
Nice
livingston
★★★★★
10-03-2024
Nice
hariny
★★★★
07-03-2024
Nice
bhojaraja h
★★★★★
05-03-2024
Thank you so much sir
r.jaya kumar
★★★★★
02-03-2024
Very good nice
minijose
★★★★★
01-03-2024
Predictions are correct
varinder
★★★★★
01-03-2024
Happy with the service provided. Got my online kundli and full horoscope.
priety
★★★★
01-03-2024
Good
premchand
★★★★★
25-02-2024
All aspects of life are covered
mohanraj
★★★★★
24-02-2024
Super useful app

सबसे प्रमुख योग हैं:

हंस योग

जब गुरु पहले, चौथे, सातवें या दसवें भाव में स्तिथ हो तो हंस योग बनता है। हंस योग के अधिकतम लाभकारी प्रभाव के लिए, गुरु 5 से 25 अंश के बीच होना चाहिए और मंगल, राहु, केतु और शनि के साथ गुरु का योग नहीं होना चाहिए। हंस योग वाले जातकों को सुंदरता, समृद्धि, उदार मानसिकता, ज्ञान प्राप्ति के व्यापक अवसर, उत्तम वैवाहिक जीवन, और कामकाज में, परिवार और मित्रों के साथ स्वस्थ संबंध बनाए रखने की क्षमता उपहार स्वरुप मिलती है। हंस योग तुला, मीन और धनु राशि के जातकों के लिए शुभ होता है। अपने लिए मुफ़्त ऑनलाइन कुंडली खोज रहे हैं? यहां क्लिक करें।

मालव्य योग

जब जातक के पहले, चौथे, सातवें या दसवें भाव में कोई ग्रह स्तिथ हो, तो मालव्य योग उनके ग्रह स्तिथि में लग्न कहा जाता है। इस योग से सबसे अधिक प्रभावित होने वाली सूर्य राशियां तुला, मीन और वृषभ हैं। मालव्य योग शारीरिक आकर्षण , सौंदर्य और व्यापार जैसी विशेषताओं को प्रभावित करता है। जो लोग इस योग से लाभान्वित होते हैं, उनके बारे में कहा जाता है कि उन्हें प्यार करने वाला और सुंदर जीवनसाथी मिलता है, यौन जीवन भरपूर होगा और वे व्यापार में अत्यधिक प्रगति करने के लिए जाने जाते हैं, और दिखने में आकर्षक होते हैं। इस योग में जन्मे जातक सरलता से से संबंध बना लेते हैं। मालव्य योग भी एक दुर्लभ योग है और इसलिए आमतौर पर यह योग बहुत लोगों की कुंडली में नहीं देखा जाता।

भद्र योग

भद्र योग अत्यंत प्रभावशाली और शुभ फलदायक माना जाता है और इसे बहुधा हास्य, बुद्धि, करुणा, विवेक, युवावस्था और दयाभाव के साथ जोड़ा जाता है। जातक के पहले, चौथे, सातवें या दसवें भाव में बुध स्तिथ हो, तो जातक के लिए भद्र योग बनता है। भद्र योग का सबसे अधिक प्रभाव मिथुन और कन्या राशि में देखने को मिलता है, जो बुध की स्वराशि हैं। भद्र योग वाले जातक अपने ग्रह दशा में प्रतिभाशाली लेखक, पत्रकार, वक्ता या रचनात्मक कार्य करने में उत्कृष्टता प्राप्त करने वाले कहे जाते हैं। इस ग्रह स्तिथि वाले लोगों को दूसरों की तुलना में अधिक युवा भी कहा जाता है और अपने शुरुआती वर्षों में लंबे समय तक रूप और आकर्षण बनाए रखने के लिए भी जाने जाते हैं।

शश योग

शश योग पंच महापुरुष योगों में से एक है। ये पांच योग जातक को जीवन में उच्च कोटि का व्यक्तित्व, सफलता और प्रतिष्ठा प्रदान करते हैं। कुंडली में शनि पहले, चौथे, सातवें या दसवें भाव में हो, तब शश योग बनता है। शश योग मेष, वृष, कर्क, तुला, मकर और कुंभ राशि को प्रभावित करता है। परंतु, सर्वाधिक महत्वपूर्ण प्रभाव तुला, कुंभ और मकर राशि पर पड़ता है। अपनी ग्रह दशा में शश योग होने वाले व्यक्ति सफल राजनीतिज्ञ, प्रेरक वक्ता बनने का कौशल, सहानुभूति और दयाशीलता, व्यापार में बढ़ोतरी, धन, संपत्ति, समृद्धि, प्रसिद्धि प्रचुरता में चल अचल संपत्ति धनी होते हैं। ये जातक विधायिका, कानून, राजनीति और कूटनीति अधिकारिकता में सफलता पाते है।

निपुण योग

निपुण योग, जिसे बुधादित्य योग के रूप में भी जाना जाता है, तब बनता है जब सूर्य और बुध दोनों एक ही भाव में हों और उनके इस शुभकारी योग में उनका कोई भी शत्रु ग्रह या मित्र ना हो, या सानिध्य भावों में न हों। यह योग अत्यंत शुभ माना जाता है क्योंकि जिस व्यक्ति की ग्रह दशा इस योग से लाभान्वित हो, वह जातक ज्ञान, बुद्धि, अपने कामकाज में प्रगति करने की क्षमता प्राप्त करता है, उसे उत्तम व्यक्तिगत संबंध बनाने, सामाजिक और लोकप्रिय होने की क्षमता का वरदान प्राप्त होता है, ये जातक अत्यंत रचनात्मक होते हैं और समाज और सभाओं में प्रशंसनीय होते है। यह एक ऐसा योग है जिसका विचार करते समय सूर्य राशि को अनदेखा किया जा सकता है। बुधादित्य योग जटिल है और जब तक सभी पूर्व अवधारित अवस्थाएं मौजूद न हो, यह योग किसी की कुंडली में बनता नहीं हैं।

रुचक योग

पंच महापुरुष योगों की सूची में रुचक योग पांच योगों में से एक है। रुचक योग का कुंडली में होना अत्यंत शुभ माना जाता है और इसका मेष, वृश्चिक और मकर राशि पर अधिकतम सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जब मंगल किसी जातक के पहले, चौथे, सातवें या दसवें भाव में बैठा हो, तब रुचक योग बनता है। इस स्थिति को आमतौर पर 'लग्न केंद्र' नाम से जाना जाता है। इस योग के सकारात्मक प्रभाव से जातक में सजगता, साहस और बहादुरी की क्षमता दिखाई पड़ती है। यह योग खास कर खिलाड़ियों, अग्निशामक अधिकारी, शरीर सौष्ठव (बॉडी बिल्डरों), सैनिकों, नौसेना, वायु सेना और पुलिस सेवाओं में अधिकारियों की कुंडली में दिखाई पड़ता है।

विश्वभर के लोगों की कुंडली में 50 से अधिक योग विद्यमान होते हैं। यद्यपि ये सबसे महत्वपूर्ण और प्रचलित हैं, परन्तु साथ ही यह समझना भी महत्वपूर्ण है कि आपके जीवन को पहले से ही सुनियोजित करने के लिए आपकी कुंडली क्या दर्शाती है इसका अध्ययन किया जाए।

सविस्तार कुंडली और आपकी राशि पर शासन करने वाले योगों के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए, क्लिकएस्ट्रो से अपनी सम्पूर्ण कुंडली ऑर्डर करें

What others are reading
left-arrow
Where do you get free online astrology? Which site is most reliable?
Where do you get free online astrology? Which site is most reliable?
Free astrology services: Where do you get them?
Free astrology services: Where do you get them?
Ever heard about free astrology services? Sounds surprising, right? Well, the digital world is now abuzz with various astrology service providers introducing apps and websites that provide free astrology services. Several well-known dig...
One App, Many Solutions - Complete Astrology App from Clickastro
One App, Many Solutions - Complete Astrology App from Clickastro
Clickastro FREE Horoscope Apps - Astrology Guidance Anytime
Clickastro FREE Horoscope Apps - Astrology Guidance Anytime
right-arrow
Today's offer
Gift box