कुंडली क्या होती है?

कुंडली एक ज्योतिष आलेख या गणना है जो आपके जन्म तिथि, जन्म समय और जन्म स्थान के आधार पर ग्रहों की स्थिति के बारे में विवेचना करती है। कुंडली ऑनलाइन आपके जन्म विवरण के आधार पर आपकी जन्म कुंडली बनाती है और आपके भविष्य, व्यक्तित्व, करकिर्दगी, शिक्षा, पारिवारिक जीवन, धन, स्वास्थ्य, विवाह आदि पर फलादेश प्रदान करती है।

GET KUNDLI IN HINDI (जन्म कुंडली)

in-depth-horoscope
Number of pages:
More than 60 pages in the premium Kundli in Hindi report

Available in languages:

English Malayalam Hindi Marathi Tamil Telugu Kannada Bengali Oriya Gujarati Sinhala
Average Rating:
Reviews:
Get online kundli in Hindi for predictions on your future, character, career, education, family life, wealth, health, marriage etc.
वैदिक ज्योतिषशास्त्रीय आधार पर आपकी निजी जन्म कुंडली जानें ।
जन्म, तिथि और समय के आधार पर कुंडली चार्ट पायें ।
आपकी निजी, शारीरिक स्थिती, विशेषता, मानसिकता आदि जानें ।
आपकी ताक़त, दुर्बलता, शक्ति आदि जानें ।
आपके जीवन पर प्रभावित करने वाले आपके शुभ ग्रह जानें ।
मंगल दोष, राहु दोष और केतु दोष जाँच और उपाय |
योग की भविष्यवाणियाँ |
पारगमन का पूर्वानुमान |
trust-badge
Basic Premium Premium plus
Enter chart options & birth details
Contact
Chart Options
Style
Language
Name & Gender
Name
Gender
By choosing to continue, you agree to our Terms & Conditions and Privacy Policy.
Birth Details
Place
Date
Time
Enter payment options

Thank you for your interest in our In-depth Horoscope.
Press the "Get Report" button to view report online now.


No credit card or signup required

Fill the form below to get your kundli online

User reviews
Average rating: 4.8 ★
1316 reviews
reeta saxena
★★★★★
Hum bahut khush h because sunanda ji ne bahut help ki humare baate suni aur best astrologer neelima ji se baat karai remedy pata chali aur jab bhi jaroorat hui humko turant response mila hume Clickastro such m bahut acha response dete h thanks🙏🙏
ashokbhat
★★★★★
Good report
prathibha
★★★★★
Good report
anoop nair
★★★★
I have taken indepth horoscope Gem prediction
sithra devi karuppiah
★★★★★
Exactly accurate and just that it will be more better if they explain about horoscope chart well in detail .Overall is excellence
vinay
★★★★★
Nice
somanathan kv
★★★★★
Your report is excellent and easy to follow and understanding observation etc.
vivek yadav
★★★★
Certain predictions which are about my past can very much relate to .
lugendra pillai k
★★★★
The report is comprehensive in nature and well captured our charactor and attributes. The predictions is also mentioned in the report based on the Graha and Hora stages. But predictions require more specific in career a.path.
pankaj yadav
★★★★★
It's easy to understand and predictions are accurate
rishika khare
★★★★★
I loved the way it was presented seperately as numerology report , gemstone prediction and horrorscope . It had covered almost all the aspect so I loved it .
anusha n
★★★★★
It's good horoscope report
shivkumar subramanian
★★★★★
Good Analysis of horoscope with relevant stress on doshas
navjot
★★★★★
I loved the service!
pranav ghosh
★★★★★
I am highly obliged and indebted to your service regarding my detailed horoscope analysis and insightful remedies which proved beneficial for me in the long run. I recommended your service even to my friends and kins and all had the same worthful experience with you. Thanks a lot.
sri kala
★★★★★
Very nicely presented my queries. I am fully satisfied
sri kala
★★★★★
Very nicely presented my queries. I am fully satisfied
nitish bharadwaj r
★★★★★
Pretty helpful and motivating.
raghvendra upadhyaya
★★★★★
Help to know our past, present and future also
shweta
★★★★★
Tamil astrology needs the services of a premier in the field like Clickastro. It will do so much to get the attention of millennials into this ancient science. I would like to thank Clickastro management for this service to Tamil language and culture.
rakesh
★★★★
I had lost my original horoscope and therefore wanted to get one online. I preferred Telugu jathakam which suits our cultural style. I came across the free Telugu Jathakam on Clickastro and was amazed by the result. The horoscope was just as per my requirement and I have been greatly benefited thanks to the positivity reflected in my Telugu jathakam by Clickastro. I would recommend it to all my Telugu friends.
suman
★★★★★
I am someone who always looks up the daily horoscope. I am just curious to know how my day would unfold. Among all the ones that I refer, I personally prefer Clickastro's daily horoscope which exactly matches my day's events and activities. The lucky numbers, colors, etc. all have helped me whenever I had an important event or meeting. I am extremely pleased to recommend this site for all those who are like me.
shreya
★★★★★
Trying out Clickastro's Free kundli matching service felt natural. The detail and accuracy was impressive. But I think way too much of it has been covered. It is almost frustrating. If a little more could be offered, it would be good.
varun
★★★★
Checking out the Clickastro free horoscope compatibility was an interesting experience. It made me aware of the depth and detail that a paid compatibility report would cover. I have already purchased the premium report. It is awesome. ?
arya
★★★★★
I tried the free kundli just for fun. It was simple, easy. It almost makes you feel sad when you realize how unique you really are. It felt like someone really wanted me to know myself. Clickastro has very attractive offers for their detailed reports.
nishal
★★★★
I got the free career horoscope from Clickastro and was quite surprised at its preciseness in predictions. I am happy that I have been able to pursue a career of my choice. Thanks Clickastro! Keep up the good work
dilip
★★★★★
I purchased the report three months ago. Already predictions in the horoscope have proven to be accurate. My friend suggested Clickastro to me. I am glad he did. The glowing reviews I found on the web further enticed me. To me astrology is Clickastro.
sujoy samanta
★★★★★
Predictions by Acharya Anandji were very accurate. It gave me indepth knowledge of my life as a whole. I could figure out my shortcomings as well as strengths. He guided me on my future goals and steps to be taken to achieve them.Acharyaji also analyzed the horoscopes of my family. Overall I was told and guided in totality.
aarav
★★★★★
I have to say I expected a bit more free content in free marriage predictions. What is on offer is nice though. Maybe I will indeed buy a full report. Keep going, Clickastro ?
rajesh
★★★★
Free Kundli report by Clickastro is nice. It felt as if a dedicated effort has been made to make me realize the virtues of having a full report. I'm thinking of buying one now.

Read Free Janam Kundali Reviews

Testimonials From Renowned Astrologers

Sri. Kanippayyur Narayanan Namboodiripad
Sri. Kanippayyur Narayanan Namboodiripad
Astro-Vision Futuretech is the number one company providing astrological reports, which are very accurate. They are doing a great job by serving the people.
Sri. M V Naranarayanan
Sri. M V Naranarayanan
I have been using Astro-Vision mobile application for the past two years. It is very simple, useful and accurate. So, except Astro-Vision software, I am not using any other applications.
Dr.C.V.B. Subrahmanyam
Dr.C.V.B. Subrahmanyam
In older days, without checking panchangam, people didn't even stepped out of their homes. But in today's world, Astro-Vision has come up with an application which gives you information about Rasi, Navamsham, Bhava etc. which is really appreciative.
Smt. Gayatri Devi Vasudev
Smt. Gayatri Devi Vasudev
The digital avatars of Jyotisha powered by Astro-Vision have spread awareness and are ideal to today's fast paced life.

Important Features of Free Personal Kundli

Janam Kundli in Hindi Online(जन्म कुंडली हिंदी में ऑनलाइन)

जन्म पत्रिका, या कुंडली, जीवन के विभिन्न आयामों का विवरण देने वाला एक महत्वपूर्ण साधन है। क्लिकएस्ट्रो वेबसाइट पर हिंदी में ऑनलाइन कुंडली उपलब्ध है। एक अनोखे हिंदी कुंडली सॉफ्टवेयर द्वारा मुफ्त रिपोर्ट तैयार की जाती है जो मानवीय त्रुटियों का निरसन सुनिश्चित करती है, अन्यथा कोई अशुद्धि हो सकती हैं। हिंदी में मुफ्त जन्म कुंडली (Free Janam Kundli Online) का लाभ उठाने के लिए, आपको केवल अपने जन्म का विवरण और समय देना होगा। आप क्लिकएस्ट्रो के साथ साझा की जा रही जानकारी के बारे में निश्चिंत रह सकते है।

हिंदी में ऑनलाइन कुंडली विभिन्न ज्योतिष पहलुओं जैसे राशि, ग्रह, दोष आदि के बारे में विवरण देगी। जन्म कुंडली का हिंदी में लाभ लेकर आप अपने जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालने वाले अब तक के अनभिज्ञ कारकों को जान पाएंगे। यह आपको शुभ फलदायी समय के बारे में पूर्व सुचना देकर आपको चुनौतियों से बेहतर तरीके से निपटने में मदद करेगा। क्लिकएस्ट्रो द्वारा उपयोग किया जाने वाला अनूठा हिंदी कुंडली सॉफ्टवेयर विवरण डालने के कुछ सेकंड में ही हिंदी में मुफ्त ऑनलाइन कुंडली की गणना करता है। फाइंडएस्ट्रो पर अपने पसंदीदा ज्योतिषियों से विस्तृत परामर्श प्राप्त किया जा सकता है। शुरुआत करने के लिए आकर्षक ऑफ़र उपलब्ध हैं। हिंदी में जन्म कुंडली समझने में सरल है और पेशेवर और व्यक्तिगत जीवन के बारे में ज्योतिषीय फल कथन करती है। इस शानदार अवसर का उपयोग जल्द से जल्द करें।

कुंडली संबंधित प्रश्नोत्तरी

कुंडली क्या है?

कुंडली, जिसे 'जन्म पत्रिका' भी कहा जाता है, वास्तव में आलेख या मानचित्र है जो किसी कल विशेष में किसी स्थान विशेष से दृश्य आकाश में स्तिथ सूर्य, चंद्र, आदि ग्रहों की अंश्कलात्मक स्तिथि को दर्शाता है। इसमें ज्योतिषीय पहलुओं और संवेदनशील कोणों की स्थिति स्पष्ट होती है, जैसे कि किसी व्यक्ति का जन्म समय कुंडली शब्द ग्रीक शब्द 'होरा' और 'स्कोपोस' से बना है जिसका अर्थ क्रमशः 'समय' और 'द्रष्टा' होता है। वैदिक ज्योतिष में, इसी आलेख को जन्म कुंडली या जन्म पत्रिका या कहते हैं जो एक उपयुक्त संस्कृत शब्द है।

कुंडली कैसे बनाई जाती है और कुंडली बनाने के लिए किन विवरणों की आवश्यकता होती है?

जन्म कुंडली (फलित ज्योतिष) सामान्य तौर पर किसी व्यक्ति के जन्म तारीख, समय और स्थान पर आधारित होती है। व्यक्ति से संबंधित इन 3 कारकों को जानकर ही एक संपूर्ण कुंडली तैयार की जा सकती है। इस गणितीय सिद्धांतो के आधार पर पहले लग्न का निर्धारण किया जाता है और फिर विभिन्न भावों में ग्रहों की स्थिति (Position of Planets) तय की जाती है।

लग्न कुंडली और नवांश कुंडली में क्या अंतर है?

लग्न कुंडली मुख्य जन्म कुंडली होती है। यह आपके जीवन को विस्तार से दर्शाती है। नवांश आपके जीवन के दूसरे भाग के परिणामों पर प्रकाश डालता है। मूल रूप से नवांश का अध्ययन आपकी वैवाहिक जीवन के अध्ययन हेतु किया जाता है।

हमें जन्म कुंडली की जांच कैसे करनी चाहिए?

जन्म कुंडली में बारह भागों में विभाजित होती हैं। प्रत्येक विभाग आपके जीवन के विभिन्न आयामों को दर्शाता है। प्रत्येक भाग में स्थित राशियों और ग्रहों के स्वाभाव और शील के आधार पर कुंडली का अध्ययन किया जाता है। फलित ज्योतिष में ये विभाग भाव या घर कहे जाते है।

क्या विवाह के लिए कुंडली मिलान आवश्यक है?

विवाह में कुंडली मिलान का अति विशेष महत्व है। यह वर और वधू की मौलिक विशेषताओं को दर्शाता है। विवाह को अधिक सफल और फलदायी बनाने के लिए प्राचीन काल से भारत में कुंडली मिलान (kundli matching) पारंपरिक प्रथा है। वर वधु की कुंडलियों का अध्ययन और सावधानीपूर्वक विश्लेषण किया जाता है।

कुंडली के महत्वपूर्ण अंग क्या हैं?

कुंडली में 12 (भाव) घर, 12 राशियां और 9 ग्रह होते हैं। 12 घर 12 राशियों का प्रतिनिधित्व करते हैं, जिनमे ये 9 ग्रह (सूर्य, चंद्रमा, बुध, शुक्र, मंगल, बृहस्पति, शनि, केतु और राहु) संचार करते हैं। ये भाव व्यक्ति के जीवन के विशिष्ट क्षेत्रों को भी इंगित करते हैं जिनमें विशिष्ट घटनाएं हो सकती हैं, जो ग्रहों की स्थिति के आधार पर शुभ या अशुभ होंगी।

कुंडली के स्थिति/संरचना की व्याख्या।

जन्म के समय सभी 12 ग्रहों की स्थिति कुंडली में दर्शायी जाती है। वैदिक ज्योतिष में आमतौर पर उपयोग की जाने वाली दो शैलियाँ हैं - उत्तर भारतीय और दक्षिण भारतीय कुंडली शैलियाँ। उत्तर भारतीय जन्म कुंडली शैली, दक्षिण भारतीय जन्म कुंडली से भिन्न है। उत्तर भारतीय भाव -आधारित कुंडली है, अर्थात, कुंडली में घर (भाव) हमेशा एक ही स्थिति में रहते हैं और राशियां चल होती हैं। जबकि, दक्षिण भारतीय एक राशि -आधारित कुंडली है, जिसका अर्थ है कि कुंडली में राशियां हमेशा एक ही स्थिति में रहती हैं और भाव चल होते हैं। किसी भी पत्रिका/कुंडली में 12 खंड होते हैं जिन्हें 'घर', 'भाव', या 'स्थान' कहा जाता है।

जन्म कुंडली में ग्रहों की मूलभूत स्थिति के तत्व के पीछे क्या विचार है?

सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, बृहस्पति (गुरु), शुक्र, शनि, राहु और केतु यह नौ ग्रह भारतीय ज्योतिष का मूलभूत आधार है। उपरोक्त नौ ग्रहों के अलावा एक ज्योतिषीय रूप से महत्वपूर्ण ग्रह है जिसे गुलिक (मांदी) कहा जाता है। राहु और केतु वास्तव में पृथ्वी और चंद्र के प्रतिच्छेदन बिंदु हैं, न कि ग्रह। चूंकि इन ब्रह्मांडीय बिंदुओं का कुंडली पर विशिष्ट प्रभाव पड़ता है, इसलिए इन्हें ज्योतिष में ग्रहों (Planets in Astrology) की संज्ञा दी गयी है।

मैं जन्म कुंडली की विस्तार से व्याख्या और धारणा कैसे समझ सकता/सकती हूं?

सर्वप्रथम जन्म कुंडली (जन्म पत्रिका) बन जाने के बाद, अगला चरण है, कुंडली की विश्लेषण करना। अपनी जन्म कुंडली (पत्रिका) को समझने के लिए आपको निम्नलिखित तत्वों की जांच करनी होगी।

1. जन्म कुंडली में विभिन्न भावों का महत्त्व

2. प्रत्येक राशि में विभिन्न ग्रहों का फल:

3. प्रत्येक भाव में विभिन्न ग्रहों का फल:

4.विभिन्न नक्षत्रों में जन्म का फल

5. विभिन्न लग्नों में जन्म का फल (लग्नेश)

भाव चलित कुंडली की विस्तार से व्याख्या और तर्क कैसे करें?

जब लग्न रेखांश अपनी राशि में केंद्रीकृत होता है और प्रत्येक राशि की स्तिथि की सूक्ष्म गणितीय गणना करके राशि कुंडली बनाई जाती है, तब हमें भावचलित कुंडली मिलती है। भावचलित कुंडली को एक प्रकार से संशोधित राशि कुंडली कहा जा सकता है। लग्न और मध्य बिंदु दो भिन्न मूल्य हैं जिनकी भावचलित कुंडली गणना में आवश्यकता होती है। कुंडली बनाते समय पूर्व दिशा में उदय होने वाली राशि को लग्न राशि कहा जाता है। लग्न की अंश्कलात्मक स्थिति प्रथम भाव का मध्य बिंदु है। मध्य लग्न चलित चक्र का सर्वोच्च बिंदु है जो, दशम भाव का मध्यबिंदु है। अन्य भावों के मध्य बिंदुओं की गणना करने के चरण निम्न हैं:

कुल अंतर = लग्न - मध्य लग्न

एक भाव का अंतर = कुल अंतर 3 से विभाजित करें

ग्यारहवें भाव का मध्य बिंदु = मध्य लग्न + एक भाव का अंतर

बारहवें भाव का मध्य बिंदु = ग्यारहवें भाव का मध्य बिंदु + एक भाव का अंतर।

इसी प्रकार, भाव कुंडली प्राप्त करने के लिए अन्य सभी भावों के मध्य बिंदुओं की गणना करें। किसी भाव का प्रारंभिक बिंदु उसके और पिछले भाव का मध्य बिंदु होता है। स्वाभाविक रूप से, एक भाव का समापन बिंदु अगले का प्रारंभ होगा। लाइफसाइन मिनी फ्री कुंडली सॉफ्टवेयर, ग्रहों, भाव और राशियों के प्रभाव पर आधारित आपके व्यक्तित्व और जीवन पर विस्तृत फलादेश प्रदान करता है। इस मुफ्त कुंडली सॉफ्टवेयर में व्यक्तित्व, शारीरिक संरचना और स्थिति पर फलादेश के लिए पहले भाव का विश्लेषण करती हैं।

सुदर्शन चक्र क्या है?

आपकी कुंडली में सुदर्शन चक्र तीन कुंडलियों का एक संयोजन कहा जा सकता है - सूर्य कुंडली, चंद्र कुंडली और लग्न कुंडली।

कुंडली में सुदर्शन चक्र कुंडली का क्या महत्व है?

आपकी कुंडली में सुदर्शन चक्र आपको विभिन्न चक्रों के अनुसार ग्रहों के स्तिथि के विभिन्न रूपों का पता लगाने में मदद करता है। सुदर्शन चक्र का विश्लेषण आपको ग्रहों की स्थिति के आधार पर उनके प्रभावों का फल कथन प्रदान करने में सहायता करता है। सुदर्शन चक्र इस मुफ्त जन्म कुंडली सॉफ्टवेयर में शामिल किया गया है।

विंशोत्तरी दशा काल और दशा भुक्ति काल में क्या अंतर है?

किसी व्यक्ति के दशा फल ग्रहों के बलाबल और स्थिति और योगों के बल पर निर्धारित करते हैं। यद्यपि फलित ज्योतिष में कालचक्र दशा, निसर्ग दशा, निरयण दशा और गुलिक दशा जैसी कई दशाएं हैं, लेकिन इन सभी में सर्वमान्य स्थान नक्षत्र दशा या ग्रह दशा को दिया जाता है। नक्षत्र दशा पद्धति में, विभिन्न चक्र कालावधि को निर्दिष्ट करने वाली भिन्नताएं हैं और सबसे लोकप्रिय पद्धति 120 वर्षों के चक्र पर आधारित है जिसे विंशोत्तरी दशा पद्धति कहा जाता है। इस पद्धति में, मानव जीवन काल को संभावित कुल 120 वर्षों में विभाजित किया गया है जो 9 ग्रहों के शासन काल अनुसार विभाजित है। प्रत्येक ग्रह की अपनी शासन अवधि होती है और इसे ग्रह की दशा भुक्ति काल कहा जाता है।

आपकी कुंडली में कुज दोष की जांच की व्याख्या कैसे होती है?

वैदिक ज्योतिष में, मंगल सबसे प्रमुख ग्रहों में से एक है जो विवाह के विषय को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित करता है। एक जातक की कुंडली में मंगल की स्थिति, मंगल दोष या कुजा दोष की उपस्थिति को निर्धारित करती है, जो व्यक्ति के वैवाहिक जीवन में अशुभ प्रभाव और दुर्भाग्य लाता है। यदि जातक की कुंडली के पहले, दूसरे, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें भाव में मंगल स्थित हो तो जातक को मांगलिक दोष होता है। यदि मंगल स्वगृह (मेष या वृश्चिक) या अपनी उच्च स्थिति (मकर) में स्थित हो तो जातक को मांगलिक दोष नहीं होगा। यह मुफ्त कुंडली सॉफ्टवेयर आपकी कुंडली में कुज दोष की उपस्थिति को जानने में आपकी सहायता करेगा।

योग क्या है? मैं अपनी जन्म कुंडली में योग के प्रभावों को कैसे समझ सकता/सकती हूं?

जन्म कुंडली में ग्रहों के विशिष्ठ संयोजन होते हैं जो व्यक्ति के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, उन्हें योग कहा जाता हैं। ज्योतिष शास्त्र में हजारों योगों का वर्णन किया गया है (Types of Yogas), जिनमें से कुछ ग्रहों की सर्व साधारण संयोजन से बनते हैं, जबकि अन्य जटिल ज्योतिषीय तर्क या कुंडली में ग्रहों की अद्भुत स्थिति पर आधारित होते हैं। ग्रहों और भावों का बल, स्वामित्व, नवांश में स्थिति आदि भी योगों के प्रभाव को निर्धारित करते हैं। प्राचीन ज्योतिष ग्रंथों में सैकड़ों योगों और उनके प्रभावों का वर्णन किया गया है। जहां कुछ संयोजन शुभ फलदायी होते हैं, वही दूसरों के अवांछनीय प्रभाव हो सकते हैं।

मैं कैसे जान सकता हूं कि कोई ग्रह शुभ है या अशुभ?

कुंडली में अपने भाव के आधार पर ग्रह शुभ या अशुभ फल देते हैं (Benefic and Malefic Planets in Birth chart) जो स्वाभाविक रूप से लग्न के साथ बदलता रहता है।

हम कैसे निर्धारित कर सकते हैं कि कोई ग्रह लग्न के लिए शुभ है?

चंद्र के अलावा, प्रथम भाव के स्वामी, नौवें और पाँचवें स्वामी (उस क्रम में) दसवें, सातवें और चौथे स्वामी (उस क्रम में) हो, जब वे स्वाभाविक फ़लदायी नहीं होते। यह केंद्राधिपति दोष कहलाता है, जो तभी समाप्त होता है जब उपरोक्त ग्रह अपनी स्वराशि में आ जाएं। कुंडली में नववें और दसवें भाव के स्वामी बहुत शुभकारी माने जाते हैं, लेकिन उन्हें आठवें या ग्यारहवें भाव से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। केंद्राधिपति बनने पर वे स्वाभाविक रूप से पाप ग्रह हो जाते हैं। अपनी स्वाभाविक प्रवृत्ति के विपरीत लक्षण प्राप्त करने का गुण तब समाप्त हो जाता है जब विचाराधीन ग्रह अपने ही भाव में स्तिथ हो।

पाप ग्रह कौन से हैं?

तीसरे, छठे और ग्यारहवें भाव के स्वामी, उल्टे क्रम में, कोई भी लाभ ग्रह जो केंद्राधिपति दोष से दूषित हो सकते हैं।

तटस्थ ग्रह कौन से हैं?

लग्नेश चंद्र, आठवें और बारहवें भाव के स्वामी; हालांकि इस विवेचना में केवल सूर्य और चंद्र का ही इस गुण के होने का उल्लेख है, लेकिन सैद्धांतिक रूप से इसे प्रत्येक ग्रह पर लागू किया जा सकता है।

भारतीय ज्योतिषशास्त्र क्या है?

ज्योतिषशास्त्र ग्रहों के अध्ययन को कहते है। ग्रह अलग-अलग चक्रों के अनुसार अपने-अपने समय में और अपने-अपने स्थान पर भ्रमण करते हैं। ज्योतिषशास्त्र किसी जातक के जन्म तिथि, समय और स्थान पर आधारित होता है। एक ज्योतिषी, जन्म कुंडली द्वारा जन्म कुंडली के नौ ग्रहों, नक्षत्र, बारह राशियों, या राशि चक्र, और बारह भावों, या घरों के बीच संबंधों का विश्लेषण कर सकता है।

भारतीय ज्योतिषशास्त्र और पश्चिमी ज्योतिषशास्त्र में क्या अंतर है?

पश्चिमी ज्योतिष सूर्य राशियों को महत्व देता है जबकि भारतीय ज्योतिष चंद्र राशियों पर अधिक ध्यान केंद्रित करता है। यद्यपि गहन विश्लेषण के लिए विशेषज्ञों के लिए अनेको पद्धतियां उपलब्ध हैं, पश्चिमी ज्योतिष आम तौर पर आपकी सूर्य राशि को देखता है और सामान्य भविष्यवाणियां करता है जो लाखों लोगों के लिए सामान्य होती हैं। जैसे यदि आपकी सूर्य राशि मीन है, तो पश्चिमी ज्योतिषी द्वारा दी गई या पत्रिका / समाचार पत्र में दी गई सामान्य भविष्यवाणियां धरती उन सभी लोगों पर लागू होती हैं जिनकी सूर्य-राशि मीन है।

दूसरी ओर, भारतीय ज्योतिषशास्त्र आपकी जन्मतिथि, जन्म समय और जन्म स्थान की विवेचना है, जो इस विश्व में हर एक के लिए अद्वितीय है। जुड़वां बच्चों के मामले में भी जन्म का समय अलग-अलग होता है। मंडल आलेख, दशा पद्धति, अष्टकवर्ग आदि का उपयोग और ग्रहों के बल को जानने की सटीक गणना भारतीय ज्योतिष को अधिक अचूक और व्यक्तिगत बनाती है।

जन्म का समय कितना अचूक होना चाहिए?

यह जितना सटीक हो, उतना अच्छा होगा। ऐसी कई गणनाएँ हैं जिनके लिए मिनट तक की सटीकता आवश्यकता होती है। कोई एक व्याख्या एक मिनट से अगले मिनट में पूरी तरह बदल सकती है, उदाहरण के लिए यदि आरोही राशि बदलती है। परंतु ये संयोग अपेक्षाकृत दुर्लभ हैं, आमतौर पर जन्म समय के लिए मिनटों और जन्म स्थान के लिए लगभग 20 किलोमीटर की सटीकता होना पर्याप्त माना गया है।

आपकी ज्योतिष रिपोर्ट किस पंचांग पर आधारित है?

यहाँ ज्योतिष की विभिन्न पद्धतियां अमल में लायी जाती हैं, साथ ही प्रकाशित पंचांगों (पंचांगों) के बीच अंतर भी देखने को मिलता हैं। क्लिकएस्ट्रो ज्योतिष आमतौर पर भारतीय फलादेश कथन पद्धति पर आधारित है जिसे वैदिक ज्योतिष के रूप में भी जाना जाता है। क्लिकएस्ट्रो ज्योतिषीय गणना वैज्ञानिक समीकरणों पर आधारित होती है न कि किसी विशिष्ट प्रकाशित पंचांग पर। इसलिए बहुधा पंचांग के आधार पर हस्तचालित गणना में त्रुटियां हो सकती हैं और खगोल-दृष्टि गणना अधिक सटीक और विश्वसनीय होती है, क्योंकि यह जन्म विवरण के आधार पर प्रत्यक्ष गणना पर आधारित होती है।

आपकी रिपोर्ट में अयनांश के लिए कौनसे मानक अपनाए जाते है? क्या मैं किसी भिन्न अयनांश पर आधारित रिपोर्ट प्राप्त कर सकता/सकती हूं?

हमने अपनी गणना के लिए 'चित्रपक्ष अयनांश', जिसे 'लाहिरी अयनांश' भी कहा जाता है अपनाते है, क्योंकि यह भारत में सबसे लोकप्रिय और व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाली अयनांश पद्धति है। यदि 'रमन अयनांश' या 'केपी पद्धति' जैसी भिन्न अयनांश पद्धति का उपयोग किया जाता है, तो ज्योतिषीय गणना और फलादेश भिन्न हो सकता है।

क्या आपकी ज्योतिष रिपोर्ट केपी पद्धति पर आधारित है?

नहीं, हम कुंडली की व्याख्या के लिए केपी पद्धति का पालन नहीं करते।

ज्योतिषशास्त्र और अंक ज्योतिष में क्या अंतर है? कौन सी रिपोर्ट अधिक श्रेष्ठ है?

ज्योतिष रिपोर्ट किसी भी व्यक्ति के जन्म तिथि, समय और स्थान पर आधारित होती है और इसलिए यह अंक ज्योतिष रिपोर्ट की तुलना में अधिक विशिष्ट होती है जो जन्म तिथि और व्यक्ति के नाम पर आधारित होती है। यदि आपके पास तीनों इनपुट विवरण हैं तो दोनों रिपोर्टें प्राप्त करना बेहतर होगा क्योंकि अंकशास्त्र रिपोर्ट आपको यह भी बताती है कि आपका नाम आपकी जन्म तिथि के अनुरूप कितना अनुकूल है। आप अपनी जन्मतिथि के साथ अधिक सुसंगत होने के लिए अपने नाम में फेरफार भी कर सकते हैं।

रत्न सिफारिश (सुझाव) के लिए अलग-अलग पद्धतियां हैं, आपकी रत्न अनुशंसा रिपोर्ट किस पर आधारित है?

रत्न जन्म के महीने, राशि, जन्म नक्षत्र आदि के आधार पर पहने जा सकते हैं, लेकिन एस्ट्रो-विज़न वैदिक ज्योतिष पर आधारित जातक की कुंडली के आधार पर अधिक व्यापक तर्क का उपयोग करती है। ग्रहों के प्राबल्य और दुर्बलता का सावधानीपूर्वक विश्लेषण किया जाता है। 'अनुकुल-रत्न' विश्लेषण का उपयोग करके अनुकूल ग्रहों को प्रसन्न करना है हमारा दृष्टिकोण है। जब कई ग्रह दुर्बल होते हैं, तब नवरत्न अंगूठी पहनने का सुझाव दिया जाता है। छोटे बच्चों के लिए केवल 'गौदंती/चंद्रकांत' (मूनस्टोन) का सुझाव दिया जाता है।

क्लिकएस्ट्रो अंक शास्त्र का आधार क्या है?

इसके लिए दो लोकप्रिय पद्धतियां हैं जिनका नाम 'कलडीन' और 'पाइथागोरस' है। यहां मुख्य अंतर अक्षरों के लिए संख्यात्मक मान निर्दिष्ट करना है। जबकि पाइथागोरस एल्गोरिथम क्रमिक रूप से अक्षरों को मान प्रदान करता है, A=1, B=2, C=3 आदि। कलडीन पद्धति में अलग-अलग मान निर्दिष्ट किये जाते है, जैसे A,I,J,Y =1, इस प्रकार किया जाता है। क्लिकएस्ट्रो अंकज्योतिष रिपोर्ट कलडीन पद्धति पर आधारित है, जो भारत में मानक है और चेरो जैसे लेखकों द्वारा लोकप्रिय की गयी है।

क्या आप भविष्यवाणी कर सकते हैं कि मेरी आयु कितने वर्षो की होगी?

क्लिकएस्ट्रो ज्योतिष ज्ञान को अत्यधिक आशावादी दृष्टिकोण के साथ आत्म-विकास साधन मानता है। यह लोगों को अपने स्वप्नों को पूर्णता में परिणित करने की शक्ति प्रदान करता है और इसे एक विज्ञान के रूप में माना जाना चाहिए। इस शास्त्र को प्राचीन समय के गुरुओं द्वारा सकारात्मक सोच और आशावाद को बढ़ावा देने के लिए विकसित किया गया था। इसलिए एक नीति के तौर पर एस्ट्रो-विज़न कुंडली के आधार पर किसी भी व्यक्ति के आयु के अध्ययन का समर्थन नहीं करती। ऐसा कहा जाता है कि किसी भी व्यक्ति की मृत्यु की सही तारीख या समय केवल ईश्वर ही जानता है।

आपके द्वारा किस प्रकार के उपाय सुझाए गए हैं?

हम मंत्र, उपवास, यंत्र, पूजा, रत्न, दान आदि वैदिक भांति के उपाय सुझाते हैं। किसी विशेष उपाय की सलाह देने से पहले प्रत्येक व्यक्ति की कुंडली का अच्छी तरह विश्लेषण किया जाता है, उदाहरण के लिए विवाह और बच्चों से संबंधित समस्या के मामले। तथापि, सभी प्रकार के सुझाए गए उपाय विशुद्ध रूप से सात्विक हैं।

सामान्यतः निर्धारित रत्न कौन से हैं?

वैदिक ज्योतिष नौ प्रमुख रत्नों पर केंद्रित है: चंद्र के लिए मोती, सूर्य के लिए माणिक, बुध के लिए पन्ना, शुक्र के लिए हीरा, मंगल के लिए लाल मूंगा, बृहस्पति के लिए पुखराज, शनि के लिए नीला नीलम, राहु के लिए गोमेद (हेसोनाइट) और केतु के लिए लहसुनिया (कैटस आई)। सस्ते विकल्प के रूप में मून स्टोन, गार्नेट, जेड और अन्य अल्पमूल्य या सहायक रत्नो का उपयोग किया जा सकता है। क्लिकएस्ट्रो रत्न अनुशंसा रिपोर्ट में सहायक रत्नों के नाम भी सूचित किए गए हैं।

Types Of Kundli
Kundli Dosha
Yog
Kundli Ascendant
Kundli Dasha
Kundli House
Kundli Match
Compare Features
BASIC
Online viewing
PREMIUM
PDF via E-mail
PREMIUM +
Printed Book
Panchanga Predictions
Bhava Predictions
Partial
Dasa Predictions
Partial
Graha dosha analysis
Partial
Yogas
Partial
Paryanthar dasa Periods(Sub-Sub-dasa)
Partial
Favourable Periods
Partial
Ashtakavarga Predictions
Partial
Transit Forecast
Partial
Remedies
FutureBook - Your Life Document (Printed Horoscope)
FREE
Get Basic
19%OFF
Rs.2100
Rs.1700
Buy Premium
View Sample
23%OFF
Rs.3249
Rs.2499
Buy Premium+
View Sample
X
What others are reading
left-arrow
December 2021 horoscope: Monthly predictions for all sun signs
It is the last month of 2021, and we are just waiting to welcome the New Year with new hopes and resolutions. But it is still important to close 2021 with a bang. So here is the December 2021 Horoscope for all zodiac signs. Aries Decem...
Free astrology services: Where do you get them?
Ever heard about free astrology services? Sounds surprising, right? Well, the digital world is now abuzz with various astrology service providers introducing apps and websites that provide free astrology services. Several well-known dig...
November horoscope 2021: Zodiac predictions for all
November is here, and we are two months away from the New Year. For those still wanting to make the best of 2021, they still have time. So read the November horoscope 2021 zodiac predictions and plan your moves. May the force be with yo...
Yearly horoscope 2022: Zodiac predictions for the coming year
What have you planned for 2022? Are you looking to change your career in 2022? Or are you taking up new projects at work? What about education or plans to study abroad? You can plan your year with the help of our horoscope 2022 based on...
Monthly Horoscope October 2021 for all Zodiac Signs
October is almost here, and it is time to plan your month. Keep from troubles at the workplace, in relationships, and anywhere else that you are involved. This forecast will help you plan your day-to-day activities and help you identify...
Monthly Horoscope September 2021 for all Zodiac Signs
Aries: The results will be mixed. There will be an increase in income. There will be profits in many aspects of life. Money due to you will be repaid. You may also receive money in the form of inheritance. Your career will remain stable...
Monthly Horoscope August 2021 for all Zodiac Signs
Monthly Horoscope August 2021 Monthly Horoscope August 2021 - Aries: Favourable times are expected. There will be general success profession-wise. You will work hard and be smart. Others, especially those above you, may come to trust y...
right-arrow
View More
Today's offer
Gift box